तनावपूर्ण काम से बचाइए अपना दिल

यदि आपका काम तनावपूर्ण है तो सावधान रहें। नए अध्ययन के मुताबिक तनावपूर्ण काम उन लोगों के लिए ज्यादा खतरनाक हो सकता है जो दिल का पहला दौरा झेल चुके हैं।कनाडा के क्यूबेक स्थित लवाल यूनिवसिर्टी की डा. सी. ब्रिसन के मुताबिक तनावपूर्ण काम करने वाले लोगों को दिल का पहला दौरा पड़ चुका है, तो उन्हें अधिक सतर्क रहने की जरूरत है। नया अध्ययन कहता है कि ऐसे लोगों में दिल का दूसरा दौरा पड़ने की आशंका उन व्यक्तियों के मुकाबले दोगुनी हो जाती है जो कम तनावपूर्ण नौकरियों में होते हैं।

पहला विशिष्ट अध्ययन: शोध की सह लेखिका डा. ब्रिसन के मुताबिक ऐसा पहली बार हुआ कि तनावपूर्ण काम के प्रभावों का बड़ी संख्या में ऐसे पुरुषों और महिलाओं पर अध्ययन किया गया जो दिल के पहले दौरे के बाद काम पर लौटे थे। काम के वातावरण के प्रभाव का विरले ही कभी अध्ययन हुआ।

जर्नल ऑफ द अमेरिकन मेडिकल एसोसिएशन के ताजा अंक में छपी रिपोर्ट के मुताबिक यह अध्ययन 972 व्यक्तियों पर किया गया। इनकी उम्र 35 से 59 साल के बीच रही। इनमें से ज्यादातर दिल का पहला दौरा पड़ने के बाद तनावपूर्ण नौकरी में रहे। इन लोगों का करीब 10 साल तक अध्ययन किया गया।

नेपाल की मदद करनी चाहिए चुनावों में: यूएन

यूनाइटेड नेशन्स सिक्योरिटी काउंसिल ने नेपाल के संविधान सभा चुनावों में देरी पर निराशा जताई है। काउंसिल के अध्यक्ष घाना के राजूदत लेसली ने बुधवार को कहा कि परिषद सहमत है कि अंतरराष्ट्रीय समुदाय को चुनावों के लिए जरूरी शर्तें बनाने में नेपाल की मदद करनी चाहिए। चुने जाने के बाद संविधान सभा नेपाल के लिए एक नए संविधान का मसौदा तैयार करेगी।

गौरतलब है कि नेपाल में करीब 10 साल के माओवादी विद्रोह के दौरान करीब 13 हजार लोग मारे गए हैं। पिछले साल सरकार के साथ शांति समझौते पर हस्ताक्षर होने के बाद माओवादियों ने औपचारिक संघर्ष विराम घोषित कर दिया था।

संविधान सभा के चुनाव पहले जून में होने तय हुए, लेकिन मॉनसून की वजह से इन्हें 22 नवंबर तक टाल दिया गया। इस महीने के शुरू में नेपाल सरकार ने माओवादियों की मांग से पैदा हुए अवरोध के चलते चुनावों को एक बार फिर टालने की घोषणा कर दी।

माओवादियों की मांग है कि संविधान सभा के चुनाव से पहले नेपाल को गणराज्य घोषित किया जाए। बार-बार चुनाव टाले जाने पर संयुक्त राष्ट्र महासचिव बान की मून ने निराशा व्यक्त की है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *