Date discipline tonight!

भारतीय लोकतंत्र की भव्यता की निशानी राष्टï्रपति भवन के उस वर्षों पुराने रसोईघर का कायाकल्प किया जाएगा जिसमें बने लजीज व्यंजनों का लुत्फ दुनिया की न जाने कितनी हस्तियां उठा चुकी हैं।

74 वर्ष पुराने इस रसोईघर के कायाकल्प में राष्टï्रपति एपीजे अब्दुल कलाम खुद गहरी रुचि ले रहे हैं। 1930 में बने इस रसोईघर को अत्याधुनिक लुक दिए जाने की योजना है। राष्टï्रपति के इस निर्देश से रसोईघर के रसोइयों में खुशी का ठिकाना नहीं है। इस रसोईघर को असाधारण बनाने की योजना है।

सूत्रों के मुताबिक इसमें कई अत्याधुनिक उपकरण लगाए जाएंगे। रसोईघर की दीवारों को चमचमाता रूप दिया जाएगा और देश के इस नंबर एक रसोईघर में कई आधुनिक कुकिंग उपकरण फिट किए जाएंगे।

गौरतलब है कि यह रसोईघर ब्रिटिश शासनकाल में बनाया गया था। राष्टï्रपति भवन के एक सूत्र ने बताया कि कलाम ने अपने कार्यालय को इस किचन के कायाकल्प का आदेश जारी कर दिया है। इसके लिए एक मार्केट सर्वेक्षण भी किया जा चुका है।

सूत्र के मुताबिक इस रसोईघर के पुनर्निर्माण के लिए एक एजेंसी की सेवा ली जाएगी। राष्टï्रपति भवन रसोईघर के प्रभारी जोसफ सैनटियागो कहते हैं कि इस दस्तरख्वान में काम करने वाले रसोइए काफी उत्साहित हैं। वे देखना चाहते हैं कि अत्याधुनिक सुविधाओं से लैस होने के बाद यह रसोईघर कैसा दिखता है।

गौरतलब है कि अभी भी इस रसोईघर में पुराने व्यंजन निर्माण उपकरण ही लगे हुए हैं। मसलन, राष्टï्रपति भवन में बेकरी आइटम बनाने के लिए जिन बेकिंग प्रणालियों का इस्तेमाल किया जाता है, वे पुरानी हैं।

सैनटियागो ने बताया कि अब इसमें नया बेकिंग सिस्टम लगेगा। गौरतलब है कि 1984 में ही इस रसोईघर की किस्मत संवारने की योजना बनी थी, लेकिन कलाम के पूर्ववर्तियों ने कभी इसमें रुचि नहीं दिखाई। रसोईघर से 12 रसोइए जुड़े हुए हैं।

इनमें से एक रसोइए ने कहा कि कलाम साहब के आदेश पर अब इसकी तकदीर संवरने जा रही है। हमें इस बदले हुए रसोईघर में काम करने में मजा आएगा।

फर्जी स्टाम्प गिरोह का भंडाफोड़ होने के बाद, दूसरी बार आज मंगलवार को फिर पटना पुलिस ने दो करोड़ रुपये से अधिक के फर्जी स्टाम्प जब्त किए हैं, इस मामले का आरोपी मनोहर मिश्र चकमा देकर भाग निकला है।

सिटी एसपी अमृतराज ने भास्कर को बताया कि मेहदीगंज थाना क्षेत्र में महेशपुर के मनोहर मिश्र के यहां भारी मात्रा में नकली स्टाम्प पेपर, जाली डाक टिकट तथा अन्य आपत्तिजनक सामान रखा था।

डीएसपी सुरेश प्रसाद चौधरी ने वहां छापा मार कर यह सामान तथा अन्य सरकारी कागजात बरामद किए।

डीएसपी के अनुसार यहां प्रतिदिन दो से तीन लाख रुपए मूल्य के स्टाम्प छाप कर बिहार, झारखंड, उत्तर प्रदेश, पश्चिम बंगाल व दूसरे राज्यों को भेजे जाते थे।

छापेमारी में पुलिस को इस अवैध कारोबार से जुड़े अन्य राज्यों के लोगों के नाम व पते भी मिले हैैंै। इससे पहले भी नगर पुलिस अधीक्षक ने महेशपुर स्थित अर्जुन सिंह के मकान से दो करोड़ रुपये के फर्जी स्टाम्प जब्त किए थे।

इसके अलावा शासकीय टिकट, तीन कम्प्यूटर, तीन प्रिंटर और एक छापाखाना भी पुलिस ने सीज किया है।

सशस्त्र इराकियों के एक दल ने एक कबायली शेख के नेतृत्व में फालुजा शहर के एक घर पर हमला कर चार जॉर्डन निवासियों और दो तुर्क बंधकों को बिना गोलीबारी के मुक्त करा लिया। इन्हें शीघ्र ही राजनयिकों के हवाले कर दिया जाएगा। उधर तीन भारतीयों समेत सात अन्य बंधकों की रिहाई के लिए बातचीत जारी है।

जॉर्डन नागरिक अहमद हसन इबु जाफर ने बताया, अपहर्ता उनकी रिहाई के बदले धन की मांग कर रहे थे।

एक अन्य महत्वपूर्ण घटनाक्रम में अल जजीरा ने अलकायदा के सहयोगी अबु मुसब अल. जरकावी द्वारा दो तुर्की बंधकों को छोडऩे की खबर दी है, लेकिन तुर्की दूतावास के अधिकारियों ने इसकी पुष्टि नहीं की है।

उधर अम्मान में एक अधिकारी ने कहा कि स्थानीय मध्यस्थ इन्हें दूतावास के अधिकारियों को सौंपने की तैयारियां कर रहे हैं।

शेखावत और सोनिया को स्थिति से अवगत कराया गया- नई दिल्ली से मिले समाचारों के अनुसार विदेश राज्यमंत्री ई. अहमद ने आज उपराष्ट्रपति भैरोसिंह शेखावत और यूपीए अध्यक्ष सोनिया गांधी सहित देश के शीर्ष नेताओं को बंधक प्रकरण की नवीनतम प्रगति से अवगत कराया।

अहमद ने कहा कि इराक में तीनों भारतीय बंधक सही सलामत हैैं और रिहाई की बातचीत सही दिशा में बढ़ रही है।

उन्होंने आज सुबह विपक्ष के नेता लालकृष्ण आडवाणी व राज्यसभा में विपक्ष के नेता जसवंत सिंह को भी इस मामले में भरोसे में लिया।

अहमद ने कहा कि इस मामले में मध्यस्थता कर रहे इराकी कबायली नेता अल हाशिम दुलाइमी से चल रही बातचीत में भी प्रगति हुई है। तीनों भारतीय ट्रक चालकों, सुखदेव, तिलकराज तथा अंतर्यामी को बंधक बनाए जाने का आज 14वां दिन है।

नासा ने नए एलटिक्स सुपर कम्प्यूटर केसी का नाम भारतीय मूल की अंतरिक्ष यात्री कल्पना चावला के सम्मान में रखा है। कल्पना कोलंबिया शटल दुघर्टना मेïं मारी गई थीं।

नासा के एमेस अनुसंधान केंद्र की परंपरा रही है कि वह अपने सुपर कम्प्यूटर का नाम इस क्षेत्र के प्रख्यात व्यक्ति या विमान अनुसंधान में महत्वपूर्ण योगदान करने वाले के सम्मान में रखता है।

केंद्र के निदेशक के मुताबिक यह गर्व की बात है कि नासा के एसजीआई एल्टिक्स 3000 सुपर कम्प्यूटर का नाम कल्पना के सम्मान में रखा गया है। वे न केवल नासा परिवार की बल्कि एमेस परिवार की भी सदस्य थीं।

एमेस में कल्पना ने जेट इंजन चालित डेल्टा विंग वाले विमान के उतरते समय हवा के प्रवाह को संगणित करने की चुनौती भरी जिम्मेदारी निभाई थी।

यहां एक शॉपिंग मॉल में आग लगने के बाद लूटपाट के डर से उसके दरवाजों पर पर ताला लगाने के आरोप में गिरफ्तार किए गए छह लोगों पर नरसंहार का आरोप लगाया गया है। इस आग में 423 लोगों की जलकर मौत हो गई थी। गिरफ्तार लोागों में शापिंग सेंटर का मालिक, उसका बेटा और चार चौकीदार हैं।

सरकारी सूत्रों ने जानकारी दी कि शापिंग सेंटर के मालिक जुआन पियो पाइवा, उसका लडक़ा डैनियल तथा चार चौकीदारों ने दरवाजे इसलिए बंद कर दिए थे कि कोई भी खरीदार आग से मची भगदड़ का फायदा उठाकर बिना भुगतान किए न जाने पाए।

बताया जाता है कि डैनियल ने ही चौकीदारों बाहर जाने के सभी दरवाजे बंद करने का आदेश दिया था। उसने खुद भी दरवाजे बंद करने में चौकीदारों की मदद की थी। निकासी के सभी रास्ते बंद हो जाने से लोग सुपरमार्केट से बाहर नहीं निकल सके और 400 से ज्यादा लोगों को अपनी जान से हाथ धोना पड़ा।

सरकारी वकील एडगर सांचेज का कहना है कि एक चौकीदार ने बयान दिया है कि उसने शॉपिंग मॉल में लगे घरेलू रेडियो पर आदेश सुना था कि बाहर जाने के सभी रास्ते बंद कर दिए जाएं।

सांचेज ने बताया कि सरकार ने गिरफ्तार शापिंग सेंटर मालिक की करीब पांच अरब की संपत्ति जब्त करने का फैसला किया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *